बांग्लादेश में एक साथ तीन रेलवे ट्रैक क्यों बिछाई जाती है?

आपने अपने देश मे दो रेलवे ट्रैक वाले पटरी को जरूर देखा होगा, ये बहुत ही कॉमन से बात है। लेकिन क्या आपने कभी तीन रेलवे ट्रैक वाले पटरियों को देखा है। अगर नही तो आपको बता दें कि बांग्लादेश में तीन रेलवे ट्रैक वाले पटरियों को बिछाया जाता है, जिसे आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बांग्लादेश में ऐसी पटरियों को क्यों बनाया जाता है, आज हम आपको इसी के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं।

three railway tracks of bangladesh

बांग्लादेश की रेलवे को मिनिस्ट्री ऑफ रेलवे ऑफ बांग्लादेश के द्वारा देख रेख किया जाता है। बांग्लादेश मव कुल 2885 किमी लंबी रेलवे ट्रैक है, जिसमे 1838 किमी मीटर गेज, 682 किमी ब्रॉड गेज और मात्र 364 किमी डबल ब्रॉड गेज की रेलवे ट्रैक है। यहां रेलवे का विकाश अभी हो रहा है।

यहां मीटर गेज के रेलवे ट्रैक की लंबाई सबसे ज्यादा है। जब मीटर गेज से ब्रॉड गेज में परिवर्तन करने के निर्णय लिया गया तो बांग्लादेश रेवले इतनी लंबी मीटर गेज के रेलवे को हटाना नही चाहती थी। क्योंकि मीटर गेज को बदलने से कोच, लोकोमोटिव और उसके साथ-साथ कई चीजों को भी बदलना पड़ता। इसलिये बांग्लादेश रेलवे ने ड्यूल ट्रैक वाले पटरी का विस्तार किया। ड्यूल रेलवे ट्रैक एक ऐसा ट्रैक होता है, जो दो अलग-अलग गेज वाले ट्रैन को चलाने में सक्षम होता है। इन्हें कभी-कभी मिक्स गेज भी बोला जाता है। तो इसी वजह में बांग्लादेश में ऐसे रेलवे ट्रैक का विस्तार किया जा रहा है।

Leave a Comment