IAS Full Form In Hindi | IAS को हिंदी में क्या कहते हैं? UPSC Full Form (संपूर्ण जानकारी) – 2022

जब भी इंडिया में सबसे ऊँचा और प्रतिष्ठित नौकरी के बारे में बात किया जाता है तो सबसे पहले IAS का नाम लिया जाता है। इसमें कोई शक नही है की एक आईएएस ऑफिसर इंडिया में सबसे प्रतिष्ठित नौकरी करते हैं। इन सब बातों को जानकर हर युवा के मन में आईएएस बनने की रुचि जगती है और वो “IAS कैसे बनें” “IAS Full Form In Hindi” “आईएएस बनने के लिए कितना एग्जाम देना होता है” आदि जैसे सवालों का जवाब ढूंढते हैं। आईएएस बनने या फिर आईएएस के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए ये पोस्ट आपको पूरी जानकारी देगा। इसलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

Table of Contents

IAS Full Form In Hindi | IAS को हिंदी में क्या कहते हैं?

IAS Full Form In Hindi | IAS को हिंदी में क्या कहते हैं?

IAS Full Form – Indian Administrative Service और IAS को हिंदी में भारतीय प्रशानिक सेवा कहते हैं। आईएएस कोई पद नही है बल्कि ये एक रैंक है और इस रैंक को प्राप्त करने वाले लोग ही जिला, राज्य या फिर देश मे संबंधित पदों पर आसीन हो सकते हैं।

उम्मीद है दोस्तों IAS Full Form In Hindi गूगल पर ढूंढने की आपकी प्रक्रिया अब समाप्त हो गयी होगी। इस पोस्ट में मैंने आपको आईएएस का हिंदी और अंग्रेजी दोनों में फूल फॉर्म बता दिया है।

इस पोस्ट में मैंने आईएएस के फूल फॉर्म के बारे में चर्चा की है। तो निश्चित रूप से आपके मन मे ये सवाल आता होगा कि आखिर “IAS Officer कैसे बनें” “IAS Officer बनने की क्या प्रक्रिया है” “IAS Officer का क्या काम होता है” तो चलिए इसी पोस्ट में आईएएस अधिकारी बनने की आपके सारे सवालों का जवाब दे देते हैं।

IAS Officer कैसे बनें? How To Become An IAS Officer In Hindi

IAS Officer या भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी बनने के लिए आपको UPSC (Union Public Service Commission) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा (Civil Services Examination) पास करना होगा, जो कि हर वर्ष UPSC द्वारा आईएएस समेत 24 विभागों में अधिकारियों को चुनने के लिए आयोजित होती है।

UPSC (Union Public Service Comission) क्या है? What Is UPSC In Hindi

UPSC एक सेंट्रल रिक्रूटिंग बॉडी (केंद्रीय भर्ती आयोग) है, जो हर वर्ष केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाले विभिन्न विभागों में ग्रुप “A” के ऑफिसर्स की भर्ती करने के लिए Civil Services Examination (CSE) जिसे हिंदी में सिविल सेवा परीक्षा कहा जाता है, आयोजित करती है।

UPSC Full Form – Union Public Service Commission

अभी तक आपने जाना – आईएएस का फूल फॉर्म और आईएएस का हिंदी और अंग्रेजी में मतलब, UPSC का फूल फॉर्म और UPSC का हिंदी और अंग्रेजी में मतलब।

CSE क्या है? What is CSE In Hindi? Full Form Of CSE In Hindi and English

CSE Full Form – Civil Services Examination

CSE का हिंदी में फुल फॉर्म – सिविल सेवा परीक्षा

सिविल सेवा परीक्षा (CSE) हर वर्ष UPSC द्वारा आयोजित की जाती है, जिसका नोटिफिकेशन प्रायः हर वर्ष फरवरी या मार्च में निकलता है। इस परीक्षा की मदद से UPSC कुल 24 विभागों में ऑफिसर्स की रिक्रूटमेंट करती है।

इन 24 सेवाओं में आईएएस को सबसे प्रतिष्ठित माना जाता है उसके बाद आईपीएस, आईएफएस, IRS आदि की बारी आती है। इसलिए आयोग रैंक और आरक्षण के आधार पर सभी उत्तीर्ण हुए कैंडिडेट्स को रैंक या विभाग निर्धारित करती है।

UPSC द्वारा CSE (सिविल सेवा परीक्षा) कितने चरण में आयोजित होती है?

UPSC द्वारा सिविल सेवा परीक्षा कुल दो चरणों मे आयोजित होती है –

  • प्रारंभिक परीक्षा (Objective Type Questions)
  • मुख्य परीक्षा (Written and Interview Or Personality Test)

1. प्रारंभिक परीक्षा – प्रारंभिक परीक्षा में कुक 2 पेपर होते हैं और प्रत्येक पेपर 200-200 मार्क्स का होता है। दोनों ही पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप (Multiple Choice Question) के होते हैं।

इसमे पहला पेपर जनरल स्टडीज का होता है, जिसमें कुल 100 प्रश्न पूछे जाते हैं और हर प्रश्न 2 मार्क्स का होता है। दूसरा पेपर CSAT का होता है, जिसमे कुल 80 प्रश्न पूछे जाते हैं और हर प्रश्न 2.5 मार्क्स का होता है। इसमें CSAT वाला पेपर बस qualifying होता है यानी इसमे आपको केवल 33 प्रतिशत की करीब 66-67 मार्क्स लाने होते हैं। जबकि पहला पेपर जनरल स्टडीज का होता है, जो कि आपका मेरिट बनाएगा। इसी पेपर के आधार पर UPSC ये निर्णय लेगी की आप mains एग्जाम में बैठ सकते हो या नही।

UPSC Mains एग्जाम क्या होता है? What Is UPSC Mains In Hindi?

यदि आप UPSC प्रीलिम्स क्वालीफाई करते हैं तो आपको UPSC Mains में बैठने का मौका दिया जाता है। UPSC मेंस दो चरणों मे आयोजित होती है –

  • Written
  • Interview Or Personality Test

UPSC CSE Mains Written Examination | UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा

UPSC मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं, जो कि इस प्रकार हैं –

Qualifying Papers – इसमे दो पेपर्स होते हैं –

दोनों पेपर का क्वालीफाइंग मार्क्स 25% यानी कि 75 नंबर होता है। हालांकि क्वालीफाइंग मार्क्स UPSC के नोटिफिकेशन पर निर्भर करता है। इसलिए किस वर्ष कितना क्वालीफाइंग मार्क्स है इसकी प्रॉपर जानकारी UPSC के नोटिफिकेशन से ही मिल पायेगा।

  • Essay (250 Marks)
  • General Studies (250 Marks)- I (Indian Heritage and Culture, History and Geography Of The World and Society)
  • General Studies (250 Marks) – II (Governance, Constitution, Polity, Social Justice and International Relations)
  • General Studies (250 Marks) -III (Technology, Economic Development, Bio-Diversity, Environment, Security and Disaster Managment)
  • General Studies (250 Marks) -IV (Ethics, Integrity and Aptitude)
  • Optional Subject (250 Marks) – Paper 1
  • Optional Subject (250 Marks) – Paper 2

इस प्रकार सिविल सेवा परीक्षा की मुख्य परीक्षा में कुल 1750 मार्क्स का लिखित एग्जाम होता है, जिसके आधार पर मेरिट बनता है। इस परीक्षा को पास करने के बाद कैंडिडेट्स इंटरव्यू या फिर पर्सनालिटी टेस्ट के लिए शार्ट लिस्ट किये जाते हैं।

Must Read – Thank You Ka Jawab Kya Hoga? Thanks का Reply क्या दें?

UPSC द्वारा आयोजित CSE (सिविल सेवा परीक्षा) का इंटरव्यू कितने मार्क्स का होता है?

Ias Full form in hindi

UPSC द्वारा आयोजित CSE (सिविल सेवा परीक्षा) का इंटरव्यू 275 मार्क्स का होता है।

अब यदि फाइनल मेरिट बनने के लिए सिविल सेवा परीक्षा का कुल मार्क्स जोड़ा जाए तो वो 2025 मार्क्स का होता है। इन्ही पेपर्स के मार्क्स के आधार पर मेरिट और रैंक डिसाइड किया जाता है।

आपने अबतक ये तो जान लिया कि UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा कितने मार्क्स का होता है और ये कितने चरणों मे आयोजित किया जाता है। अब यदि आप UPSC CSE देना चाहते हैं तो आपको इसके लिए कुछ Eligibility Criteria को पूरा करना होगा। तभी आप सिविल सेवा परीक्षा दे सकते हैं।

UPSC CSE Qualification | सिविल सेवा परीक्षा की योग्यता | आईएएस (IAS) बनने के लिए क्या योग्यताएं होती है?

UPSC CSE Qualification | सिविल सेवा परीक्षा की योग्यता | आईएएस (IAS) बनने के लिए क्या योग्यताएं निम्नलिखित हैं –

  • 1. आईएएस बनने के लिए आपको भारतीय नागरिक होना जरूरी है। साथ ही 1 जनवरी 1962 से पहले भारत आये नेपाल, भूटान और तिब्बत के लोग भी इस परीक्षा के लिए योग्य हैं।
  • 2. आपके पास देश के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी क्षेत्र में कम से कम ग्रेजुएशन की डिग्री होना चाहिए।
  • 3. आपकी उम्र कम से कम 21 और अधिकतम 32 वर्ष होना चाहिए। हालांकि यदि आप आरक्षित या फिर दिव्यांग केटेगरी में आते हैं तो आपको अधिकतम उम्र में कुछ छूट दी जाएगी।
  • हरेक केटेगरी के उम्मीदवारों के लिए उम्र की समय सीमा कुछ इस प्रकार है –
  • जनरल केटेगरी और EWS – 32 वर्ष, अधिकतम 6 बार सिविल सेवा परीक्षा दे सकते हैं।
  • OBC – 32+3 वर्ष, कुल 9 बार सिविल सेवा परीक्षा दे सकते हैं।
  • SC/ST – 32+5 वर्ष, अनलिमिटेड एटेम्पट
  • दिव्यांग – 32+10 वर्ष, जनरल, ओबीसी और EWS केटेगरी के दिव्यांग अधिकतम 9 बार और SC/ST केटेगरी के दिव्यांग अनलिमिटेड एटेम्पट दे सकते हैं।

UPSC CSE FAQ, यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा से संबंधित Frequently Asked Questions

क्या UPSC CSE में महिलाओं को उम्र में कोई छूट है?

नही, यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा में महिलाओं के लिए अलग से उम्र में कोई छूट नही है। UPSC फिलहाल केटेगरी के आधार पर ही उम्र में छूट देती है।

क्या मैं 12वीं के बाद UPSC का एग्जाम दे सकता हूँ?

नही, UPSC का एग्जाम देने के लिए कम से कम देश के किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन यानी कि स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

UPSC CSE के लिए बेस्ट डिग्री क्या है?

UPSC किसी खास विषय से ग्रेजुएशन डिग्री की मांग नही करता है। आप अपने रुचि के हिसाब से किसी भी विषय से ग्रेजुएशन कर सकते हैं और UPSC CSE एग्जाम दे सकते हैं।

UPSC का फुल फॉर्म क्या होता है?

UPSC का फुल फॉर्म Union Public Service Comission होता है। इसे हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग कहते हैं।

IAS को हिंदी में क्या कहते हैं?

IAS का फुल फॉर्म Indian Administrtive Service है, जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं। हिंदी में IAS को शार्ट में भा.प्र.से.कहते हैं।

UPSC को हिंदी में क्या कहते हैं?

UPSC को हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग कहा जाता है। ये केंद्र सरकार के अधीन आती है। केंद्र लोक सेवा आयोग की तरह ही हर राज्य में राज्य लोक सेवा आयोग होता है, जो कि राज्य सरकार के अधीन होता है।

Conclusion – IAS Full Form In Hindi

आपने इस पोस्ट के माध्यम से IAS Full Form In Hindi, UPSC Full Form In Hindi जैसे सवालों का जवाब पाया। साथ ही आपने यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा (CSE) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी पायी। UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा आमतौर पर 1 वर्ष तक चलता है। हर वर्ष लाखों उम्मीदवार इस परीक्षा में भाग लेते हैं और उनमे से कुछ लोग ही इस एग्जाम को पास कर पाते हैं और मेरिट लिस्ट में अपना नाम लाने में सक्षम हो पाते हैं और इन पास हुए कैंडिडेट्स में से कुछ ही आईएएस बन पाते हैं।

निश्चित रूप UPSC CSE देश की सबसे कठिन परीक्षा है और हो भी क्यों न, इस परीक्षा को पास करके उम्मीदवार देश का सबसे प्रतिष्ठित नौकरी जो पाते हैं। उम्मीद है आपको इस पोस्ट के माध्यम से IAS Full Form In Hindi में जानने को तो मिला ही होगा साथ ही आपने UPSC CSE से संबंधित कई अन्य सवालों के जवाब भी जानें होंगे।

4 thoughts on “IAS Full Form In Hindi | IAS को हिंदी में क्या कहते हैं? UPSC Full Form (संपूर्ण जानकारी) – 2022”

  1. Pingback: Bihar Me Kitne Jile Hai | बिहार में कुल कितने जिले हैं | 2022 में बिहार के जिलों की सम्पूर्ण जानकारी

  2. Pingback: 2022 Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam | दुनिया के सात अजूबे का नाम और फ़ोटो सहित पूरी जानकारी

  3. Pingback: 2022 में प्रभावी रूप से Thanks का Reply क्या दें? Thank You Ka Jawab Kya Hoga?

  4. Pingback: YouTube Shorts Ko Viral Kaise Kare | 2022 में YouTube Shorts को Viral कैसे करें?

Leave a Comment

Your email address will not be published.