2022 Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam | दुनिया के सात अजूबे का नाम और फ़ोटो सहित पूरी जानकारी

Duniya Ke Saat Ajoobe के बारे में जानने की दिलचस्पी हर किसी को रहती है। इसलिए आये दिन लोग इंटरनेट पर दुनिया के सात अजूबे का नाम और फ़ोटो ढूंढते रहते हैं। इसलिए मैंने आज इस ब्लॉग पोस्ट में दुनिया के सात अजूबों के बारे में पूरे विस्तार से बताया है। साथ ही आप ये भी जानेंगे कि दुनिया के सात अजूबे का निर्णय कब और कैसे हुआ? सात अजूबे चुनने का क्या मकसद है? केवल 7 अजूबे ही क्यों चुना गया? ऐसे और भी मजेदार सवालों का जवाब आपको इस पोस्ट में मिलेगा।

Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Nam | दुनिया के सात अजूबे का नाम क्या है?

दुनिया के सात अजूबे का नाम इस प्रकार है –

  • चीन की महान दीवार (The Great Wall Of China)
  • ताजमहल (The Tajmahal)
  • पेट्रा (Petra)
  • कोलोसियम (The Colosseum)
  • क्राइस्ट दी रिडीमर प्रतिमा (Christ The Redeemer)
  • चीचेन इट्ज़ा (Chichen Itza)
  • माचू पिच्चू

दुनिया के सात अजूबे का नाम और फ़ोटो सहित पूरी जानकारी

चीन की महान दीवार (The Great Wall Of China)

Duniya Ke Saat Ajoobe
चीन की महान दीवार

जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है कि चीन की महान दीवार एक दीवार की तरह है, जिसका निर्माण वहां के राजाओं ने आक्रमणकारियों से अपने देश को सुरक्षित रखने के लिए बनाया था। आज चीन की दीवार जिस रूप में है उसका निर्माण किसी एक राजा या फिर किसी एक साम्राज्य ने नही नही कई राजाओं और साम्राज्यों ने किया था।

इस दीवार का निर्माण कार्य आज से करीब 3000 साल पहले शुरू हुआ और इस दीवार के पूर्ण निर्माण में करीब 1800 वर्षों का समय लगा, जिसमे कई राजा और साम्राज्यों का योगदान रहा। चीन के महान दीवार के निर्माण में मिंग साम्राज्य (1368-1644) का काफी अहम योगदान रहा।

समय के साथ इस दीवार का कई अहम हिस्सा अब टूट चुका है। लेकिन शोधकर्ताओं के अनुसार इस दीवार की सम्पूर्ण लंबाई करीब 21,196 किलोमीटर है। UNESCO ने साल 1987 ई में The Great Wall Of China को विश्व धरोहर की लिस्ट में शामिल किया था। इस दीवार की चौड़ाई 9 मीटर है। इतनी विशाल कंस्ट्रक्शन होने की वजह से The Great Wall Of China में जगह-जगह पर ठहरने की व्यवस्था, सैनिकों के लिए वाच टावर्स आदि भी बनाई गई थी।

क्या The Great Wall Of China को अंतरिक्ष से देख सकते हैं?

नहीं, इंटरनेट पर ये मिथ काफी तेजी से वायरल है कि The Great Wall Of China को अंतरिक्ष से भी देखा जा सकता है। लेकिन ये पूरी तरह से झूठ है।

ताजमहल (The Tajmahal)

Duniya Ke Saat Ajoobe
ताजमहल

Duniya Ke Saat Ajoobe के लिस्ट में भारत की ताजमहल भी शामिल है। ताजमहल भारत के आगरा शहर में स्थित है, जो पूरी दुनिया में प्यार की निशानी के तौर पर जानी जाती है। हर वर्ष दुनियाभर के लाखों लोग इस खूबसूरत इमारत को देखने आगरा आते हैं, जिनमे कई अमेरिकन राष्ट्रपति, हॉलीवुड एक्टर्स, विभिन्न देशों के राष्ट्राध्यक्ष आदि शामिल हैं।

ताजमहल का निर्माण मुग़ल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज के याद में करवाया था। इसका निर्माण कार्य करीब 22 वर्षों तक चला। UNESCO ने 1983 ई में ताजमहल को विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया था। सफेद संगमरमर से बनी इस खूबसूरत इमारत को बनाने में करीब 20,000 कारीगरों ने दिन रात मेहनत किया और इसे इतनी खूबसूरत बनाया।

पेट्रा (Petra)

Duniya Ke Saat Ajoobe
पेट्रा

पेट्रा एक खूबसूरत और ऐतिहासिक प्राचीन नगर है, जो कि मौजूदा समय मे जॉर्डन देश मे मौजूद है। इस नगर का निर्माण चौथी शताब्दी ईसा पूर्व से लेकर दूसरी शताब्दी तक हुआ और इस समय ये शहर काफी खूबसूरत हुआ करती थी। समय के साथ ये शहर अब वीरान हो गया और आज ये पूरी दुनिया में पर्यटकों के लिए एक आकर्षण का केंद्र बन गया।

पेट्रा का निर्माण नाबतीयन साम्राज्य (Nabataean Kingdom) के द्वारा किया गया था। 1985 में UNESCO ने पेट्रा की प्राचीन शहर को विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया था। इसके बाद पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र होने की वजह से पेट्रा को Duniya Ke Saat Ajoobe वाली लिस्ट में भी शामिल किया गया।

IAS Full Form In Hindi | IAS को हिंदी में क्या कहते हैं? UPSC Full Form (संपूर्ण जानकारी)

कोलोसियम (The Colosseum)

दुनिया के 7 अजूबे
कोलोसियम

कोलोसियम या Colosseum इटली के शहर रोम में स्थित एक ऐतिहासिक amphitheatre यानी कि अखाड़ा है। Colosseum का निर्माण पहली शताब्दी में रोमन साम्राज्य के द्वारा किया गया था। इस प्राचीन अखाड़े के उपयोग रोमन साम्राज्य में बड़ी-बड़ी खेल प्रतियोगिता, तलवारबाजी, घुड़सवारी, जनता के साथ बड़ी-बड़ी मीटिंग्स आदि के आयोजन में किया जाता था।

कोलोसियम प्राचीन और आज के समय में दुनिया का सबसे बड़ा अखाड़ा या खेल का मैदान है। हालांकि आज के समय मे इसका इस्तेमाल नही होता है लेकिन आजतक दुनिया मे इससे बड़ा कोई अखाड़ा नही बना। UNESCO ने 1980 में कोलोसियम को विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया था।

क्राइस्ट दी रिडीमर प्रतिमा (Christ The Redeemer)

दुनिया के 7 अजूबे
क्राइस्ट दी रिडीमर प्रतिमा

क्राइस्ट दी रिडीमर प्रतिमा ब्राज़ील के शहर रियो डी जेनेरी में मौजूद है। जीसस क्राइस्ट की 125 फ़ीट ऊँची प्रतिमा क्राइस्ट दी रिडीमर का निर्माण 1922-1931 के बीच हुआ और Duniya Ke Saat Ajoobe के लिस्ट में शामिल होने वाला ये ऐतिहासिक अजूबा सबसे नया है। इसके बाजू की चौड़ाई 92 फ़ीट है। ये प्रतिमा दुनिया मे ब्राज़ील को एक अलग पहचान देती है। क्राइस्ट दी रिडीमर, दुनिया में जीसस क्राइस्ट की चौथी सबसे ऊंची प्रतिमा है।

चीचेन इट्ज़ा (Chichen Itza)

दुनिया के 7 अजूबे
चीचेन इट्ज़ा

चीचेन इट्ज़ा एक शहर था, जो कि माया सभ्यता का हिस्सा हुआ करती थी। ये प्राचीन शहर मेक्सिको में स्थित है। ये शहर अपने समय मे भूमिगत जल का काफी बड़ा संग्रह हुआ करता था और इसी वजह से इसका नाम चीचेन इट्ज़ा पड़ा।

Chichen Itza का क्या मतलब होता है?

आपको बता दें कि chichen में chi का मतलब मुँह और chen का मतलब कुआँ होता है। इस शहर में itza जनजाति के लोग रहते थे। इसलिए इस शहर के नाम Chichen Itza पड़ा।

UNESCO ने 1988 ई में Chichen Itza को विश्व धरोहर की लिस्ट में शामिल किया गया। ये प्राचीन शहर आज पूरे विश्व के पर्यटकों के लिए एक आकर्षण का केंद्र है और हर हजारों की संख्या में लोग यहां घूमने जाते हैं और माया सभ्यता के कारीगरी को नजदीक से देखते हैं।

माचू पिच्चू (Machu Picchu)

दुनिया के 7 अजूबे
माचू पिच्चू

माचू पिच्चू के प्राचीन शहर है जो कि आज के समय मे पेरू देश मे स्थित है। ये शहर प्राचीन इंका सभ्यता से ताल्लुक रखती थी। इस शहर की खास बात ये है कि ये पूरा का पूरा ऐतिहासिक शहर एक पहाड़ पर स्थित है। इतिहासकारों के हिसाब से इस शहर का निर्माण इंका सभ्यता में रहने वाले लोगों ने अपने राजा के निवास स्थान के रूप में किया था। लेकिन जब इंका सभ्यता का विघटन हुआ तबसे ये जगह वैसे ही वीरान पड़ा है।

UNESCO ने 1983 ई को माचू पिच्चू को विश्व धरोहर की सूची में शामिल किया था। माचू पिच्चू को पहली बार 1911 मे एक अमेरिकी इतिहासकार हीरम बिंघम को जाता है। उन्होंने ही पहली बार माचू पिच्चू का खोज किया था।

Must Read: Thank You Ka Jawab Kya Hoga? Thanks का Reply क्या दें?

Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam का लिस्ट कैसे, किसने और कब बनाया?

दुनिया के अजूबों के लिस्ट में उन्ही जगहों या फिर इमारतों को शामिल किया जाता है, जो कि इंसानों के द्वारा बनाई गई हो। दुनिया के अजूबों की लिस्ट बनाने की चलन आज से नही बल्कि पर प्राचीन समय से रहा है। प्राचीन समय में भी अजूबों का लिस्ट हुआ करता था, जो कि इस प्रकार है।

प्राचीन दुनिया के अजूबों का नाम –

  • गीजा के पिरामिड
  • बेबीलोन के झूलते बाग़
  • ओलम्पिया में जीसस क्राइस्ट की मूर्ति
  • अरटेमिस का मंदिर
  • माउसोलस का मकबरा
  • रोडेस की विशाल मूर्ति
  • अलेक्जेंड्रिया का लाइटहाउस

आज के समय मे केवल “गीजा का पिरामिड (The Great Pyramid Of Giza)” ही प्राचीन विश्व के अजूबों में शामिल एकमात्र ऐतिहासिक स्थल है जो मौजूद है। बाकी सब प्राचीन विश्व के अजूबे नष्ट हो चुके हैं।

आधुनिक समय के सात अजूबों की लिस्ट 2007 में बनकर तैयार हुई। आधुनिक समय मे दुनिया के अजूबों के लिस्ट में जो भी ऐतिहासिक स्थल शामिल है उसके चुनाव की प्रक्रिया वोटिंग के माध्यम से हुई थी। इस वोटिंग में दुनिभार के 10 करोड़ लोगो ने हिस्सा लिया था। इस वोटिंग की प्रक्रिया को कराने का श्रेय स्विस कंपनीThe New 7 Wonders Foundation को जाता है।

वोटिंग की प्रक्रिया इंटरनेट के माध्यम से किया गया। इस लिस्ट में दुनियाभर के मशहूर पर्यटन स्थल (जो कि यूनेस्को की लिस्ट में थी) को शामिल किया गया था। आधुनिक युग के Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam में कोई भी स्थल क्रमांक के आधार पर छोटा या बड़ा नही है। बल्कि सभी वंडर्स को एक समान महत्व दिया गया है।

दुनिया मे केवल 7 अजूबों को ही क्यों चुना गया?

दुनिया के अजूबों का नाम चुनने का चलन प्राचीन ग्रीक लोगों द्वारा किया गया था। ग्रीक लोग 7 नंबर को काफी पवित्र मानते थे और यही वजह है कि उन्होंने प्राचीन समय में भी दुनिया के अजूबों के लिस्ट में केवल 7 स्थल को ही शामिल किया था। यही वजह रही कि जब आधुनिक समय मे Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam चुनने का आईडिया आया तो उसमें भी केवल 7 नाम को ही शामिल किया गया।

Conclusion

आपने Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam के बारे में इस पोस्ट के माध्यम से जाना। मैंने इस पोस्ट में दुनिया के सात अजूबे के नाम के साथ-साथ दुनिया के सात अजूबे की फ़ोटो भी आपके साथ शेयर की है। निश्चित रूप से दुनिया के 7 अजूबे के नाम के बारे में जानने प्रक्रिया काफी मजेदार और रोचक लगती है। आपको भी इन दुनिया के 7 अजूबों को देखने का मन करता होगा। तो आप मुझे कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं कि आपको दुनिया के सात अजूबों में कौन सा अजूबा देखने का सबसे ज्यादा मन करता है।

2 thoughts on “2022 Duniya Ke Saat Ajoobe Ka Naam | दुनिया के सात अजूबे का नाम और फ़ोटो सहित पूरी जानकारी”

  1. Pingback: YouTube Shorts Ko Viral Kaise Kare | 2022 में YouTube Shorts को Viral कैसे करें?

  2. Pingback: Thank You Ka Jawab Kya Hoga? 2022 में प्रभावी रूप से Thanks का Reply क्या दें?

Leave a Comment

Your email address will not be published.